Fundamental Analysis Books in Hindi

अक्सर आपको ये सुनने को मिल जाता है कि ज्यादा रिटर्न पाने का सबसे अच्छा तरीका है शेयर मार्केट में निवेश लेकिन आप share market me invest kaise kare इसके बारे में ज्ञात न होने के कारण आप कई बार निवेश करने की योजना नहीं बना पाते

कभी आपने सोचा है कि आखिर ऐसा क्यों होता है, क्यों आप ये जानते हुए कि शेयर बाजार में ज्यादा रिटर्न पा सकते हैं लेकिन उस विकल्प को नहीं चुनते। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आपको शेयर मार्केट के बारे में पता नहीं होता है। 

आप नहीं जानते कि वो कौन सा रास्ता है जिसे अपनाकर आप न केवल अच्छा रिटर्न पा सकते हैं बल्कि अपने जोखिम को भी कम कर सकते हैं। नए लोगों के लिए तो यह रास्ता तलाशना और भी मुश्किल हो जाता है।

आपकी इस मुश्किल को आसान बनाती है शेयर मार्केट से जुड़ी फंडामेंटल एनालिसिस की किताबें जो आपके ट्रेडिंग प्रक्रिया में आपकी मदद करती है। ये किताबें आपको लांग टर्म इन्वेस्टमेंट के लिए तैयार करती है।

फंडामेंटल एनालिसिस की किताबों में ब्याज दर, बाजार की गतिविधी, कंपनी की गतिविधी के बारे में विस्तार से बताया गया होता है। इनका ज्ञान आपको शेयर मार्केट में लंबी रेस के लिए तैयार करता है।

ये इसलिए भी जरूरी है क्योंकि जब आप शेयर मार्केट के बारे में सीखते हैं तो आपको पता चलता है कि अल्पकालिक निवेश (शॉर्ट टर्म) से कहीं फायदेमंद दीर्घकालिक निवेश (लांग टर्म) होता है। इसलिए फंडामेंटल एनालिसिस के बारे में जानना महत्वपूर्ण होता है।

बाजार में शेयर मार्केट, फंडामेंटल एनालिसिस के बारे में कई अच्छे कोर्स उपलब्ध हैं खासतौर से Stock Pathshala पर यदि आपकी रुची किताबों में ज्यादा है तो किताबों (Stock Market books in Hindi) को पढ़ कर भी शेयर मार्केट के फंडामेंटल एनालिसिस को समझ सकते हैं।

Fundamental Analysis Books for Beginners in Hindi

इन किताबों की मदद से लोग फंडामेंटल एनालिसिस को समझ सकते हैं और अपने आप को लांग-टर्म  निवेश के लिए तैयार कर सकते हैं।

किसी चीज में निवेश करने से पहले उसकी पहचान करना बेहद जरूरी है इसके लिए मार्केट में मौजूद “भारतीय शेयर बाजार की पहचान” नाम की किताब आपका मार्गदर्शक बन सकती है।

1.भारतीय शेयर बाजार की पहचान 

जब आप शेयर मार्केट में निवेश की योजना बनाते हैं तो आपके सामने समस्या यह होती है कि आप जिस शेयर बाजार में निवेश करने जा रहे हैं उसकी पहचान करना सीख लें। 

Fundamental analysis books in hindi

 

प्रकाशन वर्ष 2011
लेखक जीतेंद्र गाला
रेटिंग 4 स्टार

इस किताब में शेयर बाजार की पहचान के लिए जरूरी इन्वेस्टमेंट बेसिक्स, प्राइमरी मार्केट, शेयर मार्केट में पैसे कैसे बनाएं, आईपीओ, शेयर बाजार में प्रवेश कैसे करें जैसे सवालों का विस्तार से जवाब मिलता है।

जोखिम को कम कर ज्यादा रिटर्न पाने की रणनीतियों के बारे में चर्चा की गई है। शेयर खरीदने और इसके सही समय पर बेचने के उचित समय को भी किताब में समझाया गया है। 

स्टॉप लॉस (stop loss meaning in hindi) का इस्तेमाल कर कैसे आप अपनी जोखिम को कम कर सकते हैं इसकी चर्चा भी किताब में की गई है, जिसे पढ़ने के बाद नए ट्रेडरों को काफी मदद मिलेगी।


        2.कैसे स्टॉक मार्केट में निवेश करें

एक बार जब आपने मार्केट की पहचान कर ली तो नए ट्रे़डर के दिमाग में सबसे बड़ा सवाल होता है कि कैसे स्टॉक मार्केट में निवेश करें? 

इस सवाल का जवाब मिलेगा आपको टीवी 18 ब्रॉडकास्ट लिमिटेड की किताब ‘कैसे स्टॉक मार्केट में निवेश करें’ में इसमें शेयर मार्केट की मूलभूत जानकारियों को बताया गया है।

Fundamental analysis books in hindi

प्रकाशन वर्ष 2015 
लेखक टीवी 18 ब्रॉडकास्ट लिमिटेड
रेटिंग 4 स्टार

2015  में आई टीवी 18 ब्रॉडकास्ट लिमिटेड की इस किताब ने जाने कितने नए निवेशकों के उम्मीदों को चार चांद लगा दिया है जो स्टॉक मार्केट में निवेश की योजना बना रहे थे। उनके लिए यह किताब मार्गदर्शक के रूप में सामने आई।

इस किताब में उन तमाम चीजों का जिक्र किया गया है जो एक नए निवेशक को पता होने  चाहिए किताब में न केवल आपको निवेश करने के बेहतरीन शेयर मार्केट टिप्स समझाए गए हैं बल्कि शेयरों की निगरानी और शेयर मार्केट से बाहर निकलने का सही समय भी बताया गया है. 

इसके अलावा इसमें लांग टर्म निवेश के बारे में भी सलाह दी गई है। आसान भाषा में लिखी गई यह किताब आसानी से समझ में आती है।


3.द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर

जब आप अपने मेहनत की गाढ़ी कमाई मार्केट में निवेश करते हैं तो आपकी सबसे बड़ी चिंता इसके सुरक्षा को लेकर होती है। फाइनेंशियल सिक्योरिटी पर लिखी गई यह किताब आपके उन सारी आशंकाओं को दूर करता है।

Fundamental analysis books in hindi

प्रकाशन वर्ष 2013
लेखक बेंजामिन ग्राहम 
रेटिंग 4 स्टार

इस किताब के लेखक बेंजामिन ग्राहम को वैल्यू इन्वेस्टिंग के पिता के रुप में जाना जाता है। बिना इस किताब की आपकी शेयर मार्केट में निवेश की यात्रा पूरी नहीं हो सकती है। 

इस किताब का हिंदी रुपांतरण भले ही 2013 में आया हो लेकिन मूल रुप से यह किताब पहली बार 1949 में छपी थी।

तब से लेकर आज तक यह निवेशकों की पहली पसंद बनी हुई है। यह किताब आपके लिए इसलिए भी जरूरी है क्योंकि इसमें आप उन निवेशकों की सच्ची कहानी को भी जानते हैं जिन्होंने शेयर मार्केट की दुनिया में जीरो से हीरो तक का सफर हासिल किया।

इंटेलिजेंट इन्वेस्टर में 1972 से पहले की स्टॉक कीमतों के इतिहास के बारे में बताई गई है। इसके अलावा इसमें अलग-अलग मानसिकता वाले निवेशकों द्वारा उनकी निवेश आवश्यकताओं के अनुसार अपनाए गए पोर्टफोलियो दृष्टिकोण के बारे में भी बताया गया है।

यह पुस्तक निवेशकों को सकारात्मक और नकारात्मक दोनों स्थितियों में सलाह प्रदान करती है।


  1. बफे और ग्राहम से सीखें शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करना

वॉरेन बफे एक सफल लांग टर्म इन्वेस्टर रहे हैं जबकि ग्राहम को वैल्यू इन्वेस्टिंग का जनक माना जाता है।  उन्होंने अपने इसी अनुभव को लोगों के साथ इस किताब के माध्यम से साझा किया है। बफे की सफलता के पीछे उनके व्यवसाय के चयन के तरीकों का बहुत बड़ा रोल रहा है।

बफे और ग्राहम से सीखें शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करना

प्रकाशन वर्ष 2019
लेखक वॉरेन बफे और बेंजामिन ग्राहम
रेटिंग 3.5 स्टार

 

इस किताब के माध्यम से आप सही स्टॉक के चयन के बारे में सीखेंगे। इस किताब में उदाहरणों के द्वारा सिद्वांतो को समझाया गया है। इस किताब में उन दिशानिर्देशों की चर्चा की गई है जिसे अपनाकर बफे ने सबसे अमीर बनने के सफर को पूरा किया।

इस किताब में बताया गया है कि कैसे आप अपनी भावनाओं पर काबू रख कर स्वतंत्र सोच और अनुशासन की मदद से मुनाफा कमा सकते हैं।


  1. प्रतिभूति विश्लेषण और एवं पोर्टफोलियो प्रतिबंध

भारत जैसी खुली अर्थव्यवस्था को समझने के लिए ट्रेडर और निवेशकों के सामने प्रतिभूति विश्लेषण और पोर्टफोलियो प्रबंध को समझना

बेहदजरूरी है। इसके लिए यह किताब आपकी मददगार हो सकती है।

Fundamental analysis books in hindi

प्रकाशन वर्ष 2019
लेखक एम आर अग्रवाल
रेटिंग 4 स्टार

प्रतिभूति विश्लेषण और पोर्टफोलियो प्रबंध को हिंदी में समझने के लिए यह किताब लिखी गई है। इस किताब में सेबी का विनियमन, पोर्टफोलियो विश्लेषण, प्रतिभूतियों का मूल्यांकन के अलावा पूंजी बाजार के सिद्दांत और जोखिम तथा रिटर्न के बारे में बताया गया है।

इस किताब को पढ़कर आप रेगुलेशन और प्रतिभूतियों के मूल्यांकन आदि विषय पर अपनी समझ को बढ़ा सकते हैं।


  1. शेयर मार्केट गाइड 

शेयर मार्केट गाइड बिगिनर्स के लिए एक अच्छी किताब है। इस किताब की लेखिका सुधा श्रीमाली हैं जो कई अखबारों के लिए वित्तीय संबंधी लेख, लिख चुकी हैं।

इसकी सरल भाषा इस किताब को बाकियों से खास बनाती है।

Fundamental analysis books in hindi

प्रकाशन वर्ष 2020
लेखक सुधा श्रीमाली
रेटिंग 3.5 स्टार

इस किताब में शेयर बाजार की कार्य-प्रणाली, कमोडिटी मार्केट, म्यूचुअल फंड्स तथा बाजार में प्रयोग की जानेवाली विभिन्न शब्दावली को व्याख्या सहित समझाया गया है। 

इसमें ट्रेडर के लिए उन कारकों के बारे में भी बताया गया है जो बाजार को प्रभावित करते हैं। इन कारणों को समझकर ट्रेडर मार्केट में होने वाले जोखिम को कम कर सकते हैं। यह पुस्तक उन हिंदी भाषी लोगों के लिए वरदान है जो शेयर मार्केट में आने का मन बना रहे हैं।

यह किताब उन लोगों को शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित करेगी और उनका विश्वास बढ़ाएगी जो पहली दफा मार्केट में प्रवेश कर रहे हैं।


निष्कर्ष

स्टॉक चयन एक ऐसा प्रश्न है जिसका सामना हर निवेशक को करना पड़ता है। फंडामेंटल एनालिसिस की किताबें निवेशकों की इसी समस्या का निराकरण करती है। इसका उपयोग विश्लेषकों द्वारा स्टॉक पर समय की अवधि में स्टॉक के प्रदर्शन का स्पष्ट अनुमान प्राप्त करने के लिए किया जाता है। 

चूंकि, फंडामेंटल एनालिसिस ट्रेडिंग का तकनीकी पहलू है और इसके लिए एक निवेशक को चार्ट, मूल्य प्रवृत्तियों आदि जैसे उपकरणों की उचित मात्रा में समझ की आवश्यकता होती है इसी आवश्यकता को समझने के लिए ये किताबें मददगार साबित होती हैं।

फंडामेंटल एनालिसिस पर ऊपर जिन किताबों के बारे में बताया गया है वो किताबें निवेशकों को मौलिक विश्लेषण के महत्व और तकनीकों के बारे में शिक्षित करने के उद्देश्य के साथ काम करती हैं।


 

Before investing capital, invest your time in learning Stock Market.
Fill in the basic details below and a callback will be arranged for more information:

    Leave a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Book Your Free Demo Class To Learn Stock Market Basics
    Book Online Demo Class Now