Share Market Me Invest Kaise Kare

लोगों के बीच यह केवल धारणा नहीं बल्कि एक जीता-जागता सच है कि कि बाकी निवेश विकल्प की तुलना में शेयर बाजार सबसे अधिक रिटर्न दे सकता है। इसके बावजूद इसके पूरे भारत में केवल 3-4 प्रतिशत लोग शेयर मार्केट में निवेश करते हैं। इसका कारण या तो ज्ञान की कमी है या फिर काफी निवेशक को ये नहीं ज्ञात की शेयर मार्किट में इन्वेस्ट कैसे करें (share market me invest kaise kare)

ये वो सवाल है जिसका जवाब हर नया निवेशक जानना चाहता है तो आज हम आपके इसी सवाल का जवाब देंगे जिसके बाद आपके मन में स्टॉक मार्केट इन्वेस्ट को लेकर कोई असमंजस नहीं रहेगा।  

शेयर बाजार में निवेश कैसे करें?

भारतीय शेयर मार्केट कई सालों से चल रहा है इसने कई निवेशकों के निवेश यात्रा को अच्छे रिटर्न के साथ सफल भी बनाया है। लेकिन अभी भी निवेशकों की संख्या इतनी नहीं है जितनी की होनी चाहिए थी। इससे साफ पता चलता है कि लोगों में शेयर मार्केट में निवेश को लेकर कई तरह की दुविधा है।

कुछ लोग तो ये भी सोचते हैं कि शेयर मार्केट में निवेश के लिए ज्यादा पैसे की जरुरत होती है जबकि ऐसी बात नहीं है। आप केवल 100 रुपये के मामूली राशि से अपनी शेयर मार्केट में निवेश की यात्रा शुरू कर सकते हैं। इसके लिए आपको बस ये समझने की जरुरत है कि इसकी शुरुआत आप कहां से कर सकते हैं।

शेयर मार्केट की एक खास बात ये भी है कि यहां प्रत्येक निवेशक अपनी जरुरत के हिसाब से अपना निवेश शुरू कर सकता है। निवेश से पहले कुछ बुनियादी जरुरतों के बारे में जानना जरूरी है।

जिसके लिए आप शेयर मार्केट का ऑनलाइन या ऑफलाइन कोर्स (share market course in hindi) ले सकते है

स्टॉक मार्केट के बेसिक जानने के बाद आप एक सही स्टॉक ब्रोकर का चयन कर निवेश कर सकते है। आइये जानते है की शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने के लिए आपको किन कदमो का पालन करना होगा।

स्टॉक ब्रोकर का चयन करें

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले शेयर ब्रोकर का चुनाव करना सबसे ज्यादा जरूरी है। शेयर ब्रोकर तीन तरह के होते हैं फुल-सर्विस, डिस्काउंट और बैंक आधारित। यदि आप मार्केट में नए हैं तो आपके लिए फुल-सर्विस ब्रोकर ज्यादा उपयोगी होगा क्योंकि आपको मार्केट के बारे में सलाह भी दी जाएगी।

इसलिए एक नए निवेशक के बेहतर होता है की वह एक स्टॉकब्रोकर ऐसे शेयर ब्रोकर का ही चुनाव करें जो सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) में रजिस्टर्ड हों। स्टॉकब्रोकर द्वारा सुझाए गए निवेश विकल्पों के बारे में गंभीरता से विचार करें।

इसके अलावा अलग-अलग शेयर ब्रोकर अलग-अलग शुल्क लेती है इसलिए अपनी जरुरत के अनुसार शेयर ब्रोकर का चुनाव करें और डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट खोलें।


डीमैट अकाउंट खोलें

शेयर मार्केट में ट्रेड और निवेश करने के लिए आपके पास डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट का होना सबसे अनिवार्य शर्त है, बिना इसके आप शेयर मार्केट में प्रवेश नहीं कर सकते हैं। डीमैट अकाउंट में आप अपने शेयर को इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में रखते हैं। डीमैट अकाउंट आप किसी भी स्टॉक ब्रोकर की मदद से ऑनलाइन या ऑफलाइन खुलवा सकते हैं।

ऑनलाइन आप स्टॉक ब्रोकर के वेबसाइट या ऐप के द्वारा आप कुछ डॉक्यूमेंट्स उपलब्ध करा कर डीमैट अकाउंट खोल सकते हैं। डॉक्यूमेंट्स में पैन कार्ड और आधार कार्ड का होना अऩिवार्य है। इसके अलावा आपको बैंक अकाउंट डिटेल्स, एड्रेस प्रूफ, इनकम प्रूफ औऱ सिग्नेचर की आवश्यकता होती है। 

यदि आपने डीमैट अकाउंट खुलवा लिया है तो इसका मतलब है कि आप शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए तैयार हैं। लेकिन इससे पहले कुछ चीजों को ध्यान में रखना जरूरी होता है जिससे आपके सफल होने की संभावना बढ़ जाए। 

डीमैट अकाउंट खोलने के बाद आपको एक ट्रेडिंग एप दी जाती है जिसकी मदद से आप स्टॉक में ट्रेड कर सकते है


निवेश करने के उद्देश्य को निर्धारित करे

डीमैट खाता खोलने के बाद सबसे ज़रूरी होता है अपने लक्ष्य उद्देश्य को निर्धारित करना। इसके बाद अपने लक्ष्य के अनुसार अपने ट्रेडिंग स्टाइल को जाने, की आप एक लॉन्ग-टर्म निवेशक बनना चाहते है या शार्ट-टर्म ट्रेडर। 

जैसे की अगर आप अपने या अपने बच्चों के भविष्य के लिए वित्तीय लक्ष्य लेकर स्टॉक मार्केट में निवेश कर रहे है तो आपके लिए लॉन्ग टर्म निवेश करना उचित होगा, जिसके लिए आप ऐसे कंपनी के स्टॉक में निवेश कर सकते है तो मूलरूप में मजबूत हो और आपको एक अच्छा रिटर्न दे सके

दूसरी तरह सिर्फ मुनाफा कमाने के उद्देश्य को पूरा करने के लिए आपके पास अलग-अलग ट्रेडिंग ऑप्शन जैसे की; इंट्राडे, स्विंग, पोशीशनल ट्रेडिंग होते है जिसकी सही जानकारी के साथ आप शेयर बाजार में कम पैसो के साथ भी कई गुना तक मुनाफा कमा सकते है


अपने जोखिमों का आंकलन करें

ज़ाहिर सी बात है अगर आप स्टॉक मार्केट में निवेश करने की सोच रहे है तो इसके जोखिमों को भी समझना होगा इसके लिए ज़रूरी है की आप पूरी जानकारी के साथ निवेश करें और सबसे ज़रूरी इस बात को जाने की आप कितना नुकसान झेल सकते है। 

यहाँ पर अगर आप कम जोखिमों के साथ निवेश करना चाहते है तो उसके लिए आपको ऐसे स्टॉक में निवेश करना चाहिए जो ज़्यादा स्टेबल हो जैसे की; डिफेंसिव स्टॉक (defensive stock).

यहाँ पर आप स्टॉक मार्केट के गणित की मदद से स्टॉक के अलग-अलग पेहलूओं और ग्रोथ पैरामीटर की जानकारी ले सकते है जिनका सीधा असर शेयर के प्राइस पर पड़ता है


निवेश में विविधिता लाए

इसके साथ-साथ आप अपने जोखिमों को कम करने के लिए अपने निवेश करने की योजना में विविधता ला सकते है। स्टॉक मार्केट में शेयर के आपके लिए अलग-अलग इन्वेस्टमेंट ऑप्शन होते है जैसे की बांड्स, म्युचअल फण्ड, डेरीवेटिव ट्रेडिंग आदि।  

आप अपने जोखिमों को कम करने के लिए हर किसी तरह के ट्रेडिंग सेगमेंट में थोड़ा-थोड़ा निवेश कर सकते है

किस सेगमेंट में कितना निवेश करना उचित है उसके लिए आपके पास हर सेगमेंट का ज्ञान और उनसे जुड़े जोखिमों के सारे आंकड़े होने चाहिए। 


अपने पोर्टफोलियो को पूर्णसन्तुलित करें

निवेश में विविधिता लाना उचित है लेकिन यहाँ पर समय के साथ आपकी ज़रूरते और लक्ष्य बदलते रहते है और इसी कारण ज़रूरी होता है की आप अपने पोर्टफोलियो को संतुलित करते हुए चले

इसके हर तिमाही आपको अपने पोर्टफोलियो को देखना चाहिए ताकि आप अपने वर्तमान एसेट और स्टॉक का आंकलन कर एक सही निर्णय ले सके

जैसे की उदहारण के लिए आप पहले आप अपना घर बनाने के लिए निवेश कर रहे थे, लेकिन अब अपने बच्चों की शादी के लिए निवेश करना चाह रहे है तो उसके अनुसार आपके इन्वेस्टमेंट स्ट्रेटेजी में भी बदलेगी और यहाँ पर ज़रुरत पड़ेगी अपने पोर्टफोलियो को फिर से बदलना और सही इन्वेस्टमेंट स्ट्रेटेजी के अनुसार निवेश करना


सही स्टॉक का चयन करें

सभी पहलूओं को समझने के बाद अब ज़रूरी है की सही स्टॉक का चयन कैसे करें। एक नए निवेशक के लिए ये काफी चुनौतीपूर्ण होता है। ज़ाहिर सी बात एक नए निवेशक के लिए एक सही स्टॉक में कितनी रकम के साथ निवेश करना मुश्किल हो सकता है, लेकिन एक सही समझ और ज्ञान के साथ आप अपनी इस मुश्किल को कम कर सकते है। 

इसके लिए काफी stock market books in hindi में है जिसकी मदद से आप स्टॉक की बारीकियों को अच्छे से समझ सकते है और एक सही स्टॉक का चयन कर सकते है।

स्टॉक मार्केट की सही समझ के साथ आप ये जान सकते है की किस स्टॉक में निवेश करना आपके लिए फायदेमंद होगा। जैसे की अगर हम फ़ण्डामेंट एनालिसिस (fundamental analysis in hindi) की बात करें तो इससे आप किसी भी कंपनी के पिछले और आने वाली ग्रोथ की जानकारी प्राप्त कर सकते है।

इसके लिए जिन कंपनी के शेयर में निवेश करना चाह रहे है उसके अलग-अलग रेश्यो जैसे की ROE, P/E  जैसे रेश्यो से रिटर्न की जानकारी प्राप्त कर एक सही निर्णय ले सकते है। 

इसके अलावा अगर आप शार्ट टर्म या लॉन्ग टर्म निवेश करना चाहते है तो उसके लिए आप टेक्निकल एनालिसिस (technical analysis in hindi) कर सकते है, जिसके अंतर्गत आप:

  • शेयर मार्केट चार्ट्स को समझे
  • टेक्निकल इंडीकेटर्स का इस्तेमाल कर सही प्राइस में बाय और सैल करें
  • स्टॉप लॉस का इस्तेमाल करके अपने नुक्सान को सीमित करें

इस तरह के अलग-अलग पहलूओं की जानकारी ले आप स्टॉक में ट्रेड कर अपने मुनाफे को बढ़ा सकते है

निवेश करने के लिए एक स्टेबल स्टॉक को चुनने के लिए आप स्टॉक मार्केट इंडेक्स जैसे की निफ़्टी ५० या सेंसेक्स में मौजूदा स्टॉक्स का चयन कर भी उसमे निवेश कर अपने रिटर्न को बड़ा सकते है  भी इस्तेमाल कर सकते है। 


निष्कर्ष

शेयर मार्केट में निवेश करना निश्चित रूप से आपको ज्यादा रिटर्न दिला सकता है लेकिन यदि कुछ बातों को ध्यान में न रखा जाए तो शेयर मार्केट में पैसे लगाने का आपका अनुभव खराब भी हो सकता है। हम जानते हैं कि जहां हमें ज्यादा रिटर्न मिलता है वहां जोखिम भी उतना ही ज्यादा होता है।

इसलिए शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने से पहले मार्केट के बारे में पढ़ें, उसके व्यव्हार को समझें और उसी कंपनी के शेयर में निवेश करें जिसके ग्रोथ की संभावना है। यदि आप इन चीजों को ध्यान में रखकर अपने फाइनेंशियल जर्नी की शुरुआत करते हैं तो आपका शेयर मार्केट में निवेश करने का उद्देश्य पूरा हो सकता है।

Start Learning through Free & Pro Stock Market Courses!

Install Stock Pathsahla and Get Exclusive 20% off on all subscriptions.Use Coupon Code SPWEB20

Install Stock Pathshala App Now

 

error: Oh wait! The content is locked from copying!