ऑप्शन ट्रेडिंग टिप्स

शेयर मार्केट के किसी भी सेगमेंट में निवेश करके मुनाफा कमाने के लिए उससे जुड़े प्रत्येक टर्म की जानकारी होना आवश्यक है, जैसे ऑप्शन ट्रेडिंग। कई ट्रेडर्स और निवेशक ऑप्शन ट्रेडिंग को काफी जोखिम भरा मानते है और इनके अनुसार इस ट्रेडिंग सेगमेंट में नुकसान की संभावना ज्यादा रहती है। कई ट्रेडर नुकसान की संभावना को कम करने के लिए अक्सर सही ऑप्शन ट्रेडिंग टिप्स की तलाश में रहते हैं। 

ऑप्शन ट्रेडिंग (option trading in hindi) का मतलब आप विशेष सिक्योरिटी को विशेष दिन पर विशेष कीमत पर बेचने या खरीदने का अवसर पाते हैं। लेकिन ऑप्शन ट्रेडिंग के पीछे का विचार यह होता है की यह काफी जटिल और जोखिम भरा है।  

लेकिन असलियत में इसे समझना और मुनाफा कमाना काफी आसान है। इसलिए, आज हम ऑप्शन ट्रेडिंग टिप्स के बारे में चर्चा करेंगे। जिसका अनुसरण करके आप आसानी से मुनाफा कमा सकते हैं।

Option Trading Tips in Hindi

ऑप्शन ट्रेडिंग के फ़ायदे कई सारे है लेकिन साथ ही इसकी जटिलता और जोखिम की संभावना भी बहुत है। इन्ही जोखिमों को खत्म करने के लिए आपको ऑप्शन ट्रेडिंग टिप्स का अनुसरण करना जरुरी है। आप ऑप्शन ट्रेडिंग टिप्स को समझकर आसानी से मुनाफा कमा सकते हैं। 

ऑप्शन ट्रेडिंग के 5 टिप्स इस प्रकार हैं:-

1. स्टॉक ट्रेडिंग के अलावा ऑप्शन ट्रेडिंग आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकता है

स्टॉक ट्रेडिंग के दौरान ट्रेडर अक्सर इस समस्या का सामना करते हैं की स्टॉक्स को रखें या बेच दें?

चाहे कोई नया ट्रेडर हो या अनुभवी ट्रेडर, उसे अक्सर इस परेशानी का सामना करना पड़ता है।

लेकिन समस्या का शिकार वैसे लोग होते हैं जिन्हें ऑप्शन ट्रेडिंग के बारे में जानकारी नहीं है क्योंकि ऑप्शन ट्रेडिंग में आप ऑप्शन का उपयोग करके आप अपनी पोजीशन को हेज (Hedging meaning in Hindi) कर सकते हैं।

स्टॉक ट्रेडिंग में आप स्टॉक्स खरीदते हैं और उसके कीमत में बढ़ोतरी होने पर आप उसे बेच देते हैं।

लेकिन ऑप्शन ट्रेडिंग में शेयर मार्केट की अस्थिरता (Volatility) के बावजूद आप सही रणनीति का उपयोग करके लाभ कमा सकते हैं।  यहाँ पर ट्रेडर ऐतिहासिक वोलैटिलिटी के साथ-साथ इम्प्लॉइड वोलैटिलिटी (IV in option chain in hindi) की गणना कर भविष्य के जोखिम और रिटर्न की गणना कर ट्रेड पोजीशन ले सकते है। 

स्टॉक ट्रेडिंग में स्टॉक की दिशा का सही अनुमान लगाना आपके अनुभव पर निर्भर करता है। वहीं दूसरी ओर ऑप्शन में आप कम निवेश और कम जोखिम के साथ लॉन्ग टर्म या शार्ट टर्म के लिए ट्रेड कर सकते हैं। यह विकल्प आपको स्टॉक ट्रेडिंग में नहीं मिलता है।

ऑप्शन ट्रेडिंग उन लोगों के लिए बेहतर विकल्प है जो कम निवेश और कम जोखिम की संभावना के साथ ट्रेड करना चाहते हैं।


2. स्टॉक ट्रेडिंग की तुलना में आप ऑप्शन ट्रेडिंग से ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं

आप विश्वाश करें या नहीं, ऑप्शन ट्रेडिंग में आप नुकसान की स्थिति में भी मुनाफा कमा सकते हैं।

जब आप एक स्टॉक खरीदते हैं, उसके बाद आप स्टॉक की कीमत में बढ़ोतरी होने पर ही मुनाफा कमाते हैं। स्टॉक के शार्ट सेल के समय आप केवल स्टॉक की कीमत में गिरावट आने पर मुनाफा कमाते हैं। 

कल्पना करें की आपकी पोजीशन शेयर मार्केट में बुलिश (Bullish) हैं, आप तभी पैसा कमा सकते हैं यदि स्टॉक के कीमत में बढ़ोतरी हो। लेकिन अगर स्टॉक स्थिर हो या उसमें गिरावट की संभावना होती है तब आप मुनाफा नहीं कमा सकते हैं। 

ऑप्शन ट्रेडिंग में चाहे मार्केट तेजी (Bullish), मंदी (Bearish) या स्थिर हो, आप फिर भी लाभ कमाने का अवसर पाते हैं। और किसी एक ट्रेंड के अनुसार सही पोजीशन लेने के लिए पुट कॉल रेश्यो (PCR ratio in hindi) की गणना करें।

इसके लिए आपको पुट और कॉल ऑप्शन के ओपन इंटरेस्ट को आपस में विभाजित करना होता है। अगर वैल्यू 1 से ज़्यादा आये तो मार्केट बुलिश और 1 से कम होने पर बेयरिश का संकेत देती है।

अगर आप serious trader है और जानना चाहते है कि ट्रेडिंग कैसे सीखें और उसमे इस्तेमाल होने वाले tools को कैसे समझे तो आप online और offline विकल्प जैसे Books, blogs या option trading classes को join कर सकते है


3. डर और लालच से भी ऑप्शन ट्रेडर ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं

प्रसिद्ध स्टॉक मार्केट निवेशक ‘वारेन बुफेट’ का यह कहना है की “जब लोगों के बीच डर हो तब आप लालची बन जाओ और जब लोग लालच करें तब आप डर जाओ”। मुनाफेदार स्टॉक चुनने के लिए इस तथ्य का उपयोग किया जा सकता है। 

कोविड के समय स्टॉक मार्केट पूरी तरह क्रैश हो गया था उस समय काफी लोग डरे हुए थे, लेकिन कुछ ऑप्शन ट्रेडर ऐसे भी थे जिन्होने उस समय उस पुरे साल के बराबर मुनाफा कमा लिया। जब शेयर मार्केट में गिरावट हुई थी तब बहुत लोग डर की वजह से अपने शेयर्स बेच रहे थे और वहीं दूसरी ओर कई लोग बहुत ज्यादा निवेश कर रहे थे। 

इसका मतलब यह की जब लोगों के बीच डर हो तब आप ज्यादा मुनाफा कमाने का अवसर पाते हैं। 

जैसाकि हम जानते हैं की खबर के आधार पर शेयर मार्केट के शेयर प्राइस में गिरावट और उछाल आती है। इस मामले में ऑप्शंस का सही उपयोग करके आप मुनाफा कमा सकते हैं, आपको लालच और भय को समझकर इसमें अवसर देखने की जरुरत होती है। 

अनुभवी ट्रेडर बाजार की अस्थिरता का उपयोग करके अक्सर अच्छा कमाते हैं। 


4. ऑप्शन पोर्टफोलियो को बढ़ा सकते हैं, इसके जैसा कोई दूसरा टूल उपलब्ध नहीं है

स्टॉक ट्रेडिंग में कई बार ऐसी स्थिति आ जाती है, जब शेयर मार्केट क्रैश होने लगता है। अगर आपने अपने पोर्टफोलियो में लॉन्ग टर्म के लिए स्टॉक रखे हैं, जिससे आपके पोर्टफोलियो पर भी काफी ज्यादा असर पड़ता है और आपके पोर्टफोलियो में भी गिरावट आने लगती है। 

लेकिन पोर्टफोलियो को बढ़ाने का यह अर्थ नहीं की आप जोखिम जोड़ रहें है बल्कि इसका अर्थ यह हो सकता है की आप ऑप्शंस का उपयोग करके जोखिम को कम और पोर्टफोलियो में आय डालते हैं लेकिन यह स्टॉक ट्रेडिंग में संभव नहीं है। 

स्टॉक ट्रेडिंग में गिरावट आने से आपके पोर्टफोलियो में भी गिरावट आने लगती है। आप शेयर मार्केट क्रैश

होने पर नुकसान को नहीं रोक सकते हैं, लेकिन अगर आप अपने पोर्टफोलियो में रखे हुए स्टॉक का ऑप्शन खरीदकर आपकी नुकसान की संभावना खत्म हो जाती है। 


5. धैर्य ऑप्शन ट्रेडिंग में मुनाफा कमाने का जरिया है

ट्रेडिंग में अच्छे ट्रेड होते हैं, खराब ट्रेड होते हैं, कुछ जीतने वाले अच्छे ट्रेड होते हैं, जो नुकसान में बदल जाते हैं, कुछ ख़राब ट्रेड होते हैं, जो लाभ में बदल जाते हैं। लेकिन ये सभी तथ्य आपके धैर्य पर निर्भर करता है। 

स्टॉक ट्रेडर और ऑप्शन ट्रेडर के बीच एक बात सामान्य है, धैर्य। ट्रेडिंग के दौरान सक्रिय (Active) रहना जरुरी है क्योंकि सही समय पर सही निर्णय लेना फायदेमंद होता है। लेकिन अगर आप धैर्य के साथ निर्णय लेते हैं, तब आपके नुकसान की संभावना काफी कम हो जाती है। 

लेकिन कई बार ट्रेडर्स ऑप्शन ट्रेडिंग को gambling की तरह लेते है। अब आप सोच रहे होंगे की kya option trading jua hai तो आपको बता दे कि आपकी मानसिकता और trade करने का तरीका ही ऑप्शन को जुए से विभिन्न बनाता है। 

लेकिन सही समझ और जानकारी स्मार्ट ट्रेडिंग पर ध्यान केंद्रित करके आप अच्छे और बुरे ट्रेडिंग के बीच अंतर को आसानी से समझ सकते हैं। 

विशेषज्ञ हमेशा कहते हैं “Time is Money” और यह वाक्य ऑप्शन बेचने वालों पर सही बैठती है क्योंकि उन्हें मार्केट में टाइम डीके (time decay in options in hindi) से पैसा कमाने का मौका मिलता है। 

ऑप्शन खरीदने वालों के लिए समय सबसे बड़ा दुश्मन है। क्योंकि ऑप्शन होल्ड करने से समय के साथ ऑप्शन की कीमत कम होती जाएगी। 

अब इन सब टिप्स के साथ एक सही समझ होना भी काफी आवश्यक है जिसके लिए ऑप्शन ट्रेडिंग को सीखना ज़रूरी है। अब अगर आप सोच रहे है कि ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे सीखें तो उसके लिए कई तरह के विकल्प है जैसे ऑनलाइन यूट्यूब चैनल, स्टॉक मार्केट कोर्स, Stock Market Learning App आदि।

आप एक सही विकल्प का चयन कर ऑप्शन ट्रेडिंग की शुरुआत कर सकते है


निष्कर्ष 

आप ऑप्शन ट्रेडिंग की जटिलताओं को कम करने के लिए आप ऊपर में बताए गए सभी शेयर मार्केट टिप्स का अनुसरण कर सकते हैं। 

स्टॉक ट्रेडिंग में ट्रेडर मार्केट की अस्थिरता के आधार पर मुनाफा कमाते हैं, जिससे उन्हें कई बार नुकसान का भी सामना करना पड़ता है। लेकिन आप ऑप्शन ट्रेडिंग में अस्थिरता होने पर उचित रणनीति का उपयोग करके मुनाफा कमा सकते हैं। 

ऑप्शन ट्रेडिंग में मार्केट की स्थिति चाहे तेजी (Bullish) हो, मंदी (Bearish) हो, या स्थिर हो आप मुनाफा कमा सकते हैं। 

आप मार्केट की सही स्थिति का पता लगाकर भी शेयर मार्केट में मुनाफा कमा सकते हैं। शेयर मार्केट में गिरावट आने पर भी आप स्टॉक के ऑप्शन चुनकर आप मुनाफा कमा सकते हैं। 

आपके ट्रेडिंग के दौरान सक्रिय रहने और धैर्य रखने से आप शेयर मार्केट में मुनाफा कमा सकते हैं। लेकिन आप ऑप्शन बेचने समय ही धैर्य रखें, इससे आपके लाभ में बढ़ोतरी की संभावना रहती है। लेकिन ऑप्शन खरीदने वालों के लिए धैर्य रखना नुकसान दायक होता है क्योंकि ऑप्शन की कीमत समय के साथ कम होती जाएगी। 

Before investing capital, invest your time in learning Stock Market.
Fill in the basic details below and a callback will be arranged for more information:

    Leave a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Book Your Free Demo Class To Learn Option Trading
    Book Online Demo Class Now